FASTag is Necessary From 1st December 2019


1 दिसंबर 2019 से फास्टैग हुआ जरूरी, अब टोल टैक्स पर रुकना नही पड़ेगा, बिना FASTag वाले वाहनों को देना होगा टोल टैक्स पर दोगुना किराया।

आज के इस भागदौड़ भरे जीवन शैली में टोल टैक्स पर गाड़ी रोकने पर काफी समय बर्बाद हो जाता है ,हर कोई पहले आगे जाने की कोशिश में रहता है।

कई बार हमें कोई आपातकालीन होती है, कहीं जल्दी पहुंचना होता है लेकिन मजबूरीवश हमें टोल पर  टैक्स देने के लिए वाहनों की लंबी कतार का सामना करना पड़ता हैं। लेकिन 1 December 2019 से हमें इस समस्या से निजात मिल जाएगी, जी हां अब टोल पर टैक्स दने के लिए हमें अपनी गाड़ी खड़ी नही करनी होगी और न ही भारी भीड़ का सामना करना होगा।इस समस्या को दूर करने के लिए अब FASTag आ चुका है।

क्या है FASTag?

हमारे केंद्रीय परिवहन एंव राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी जी ने 1 December 2019 से सभी वाहनों के लिए फास्टैग अनिवार्य कर दिया है, और अब वाहनों को टोल प्लाजा से 20 km की speed से निकलना होगा । FASTag टैक्स संग्रह के लिए प्रीपेड रिचार्जेबल टैग है, जिससे टोल टैक्स automatic pay हो जाता है। ये सामान्यतया आपके वाहन के windscreen पर चिपका होता है। अगर आपके vehicle में फास्टैग है तो टोल पर टैक्स देने के लिए आपको अपने वाहन को रोकने की जरूरत नहीं होगी। जैसे ही वाहन टोल प्लाजा से गुजरेगी, आपके वाहन के विंडस्क्रीन पर चिपके FASTag से लिंक्ड बैंक अकाउंट/प्रीपेड वॉलेट से टोल टैक्स अपने आप कट जाएगा। ऐक्टिवेटेड फास्टैग Radio Frequency Identification Technology पर काम करता है। इसके अलावा, FASTag में कोई एक्सपायरी डेट नहीं होती और जब तक ये खराब नहीं होते, तब तक यह टोल प्लाजा पर रीडेबल होता है।

FASTag कैसे खरीदें और सक्रिय करें?

FASTag 22 certified बैंकों द्वारा विभिन्न चैनलों जैसे National Highway टोल प्लाजा के point of sale के जरिये और चुनिंदा बैंकों की शाखाओं द्वारा जारी किया जाता है। फास्टैग Amazon जैसे E-commerce प्लेटफॉर्म पर भी मौजूद है।

सेल्फ ऐक्टिवेशन

फास्टैग ‘बैंक न्यूट्रल’ होते हैंl ऑनलाइन फास्टैग Do it yourself Concept पर आधारित होता है, जहां आप ‘My FASTag Mobile App ‘ में vehicle detail डालकर इसे सेल्फ-ऐक्टिवेट कर सकते हैं। Android फोन यूजर्स Google Play store से और Iphone यूजर्स Apple store से ‘My FASTag Mobile App डाउनलोड कर सकते हैं।

FASTag लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज

फास्टैग बनवाने के लिए वाहन का पंजीकरण प्रमाण पत्र (RC), वाहन मालिक का पैन कार्ड, फ़ोटो, आधार कार्ड की जरूरत होगी। इसके बाद बैंक उनकी KYC करेगा और फिर फास्टैग जारी हो जाएगा। इसके अलावा अगर पेटीएम और एयरटेल से फास्ट टैग लेना है तो  एंडरॉयड के माध्यम से ई-वॉलेट के जरिए उन वाहन चालकों के खाते से टोल प्लाजा पर पैसे कटेंगे।

फास्टैग लगाने के क्या क्या फायदे होंगे

इतना तो पुष्टि है कि फास्टैग लगे वाहन को टोल प्लाजा पर रुकना नही पड़ेगा, और भीड़ का सामना नही करना होगा, टोल प्लाजा पर भीड़ कम होगी। इसके अलावा भी और कई फायदे हैं फास्टैग के , चलिये देखते हैं।
  • हर एक गाड़ी डिजिटल रिकॉर्ड के रूप में सरकार के पास दर्ज हो जाएगी, जिससे जरूरत पड़ने पर गाड़ी को ट्रैक किया जा सकेगा ।
  • चालक को अपने साथ कॅश रखने की जरूरत नही होगी, क्योंकि फास्टैग लगा होने पर आटोमेटिक ऑनलाइन पेमेंट हो जायेगी।
  • फास्टैग लगने पर समय के साथ साथ गाड़ी के पेट्रोल डीजल की भी बचत होगी।
  • वाहन चोरी की वारदातें कम हो जाएंगी।

 इन बातों का रखें ख्याल

आप एक वाहन के लिए एक से अधिक फास्टैग नहीं रख सकते। आपको अलग-अलग वाहन के लिऐ अलग अलग FASTag ही लगाने पडेंगे।

IHMCL की वेबसाइट के मुताबिक, ‘अगर आप टोल प्लाजा के 10 किलोमीटर के दायरे में रहते हैं तो आप फास्टैग के जरिये भुगतान किए जाने वाले टोल टैक्स में छूट की सुविधा उठा सकते हैं। ऐसे मामले में आपको बैंक तथा नजदीकी POS लोकेशन में निवास प्रमाण जमा कराना होगा, ताकि यह वैलिडेट हो सके कि आप टोल प्लाजा के 10 किलोमीटर के दायरे में रहते हैं। पता सत्यापित करें हो जाने पर आप टोल प्लाजा पर अपने वाहन को मिलने वाले फास्टैग पर छूट का फायदा उठा सकते हैं।

Author: admin

Admin: Hindi Blog Exclusive Samachar


Leave a Reply