World Bicycle Day 2024: रोजाना कुछ समय की साइकिलिंग से मिलेंगे अनेकों फायदे, आज ही शुरू करें साइकिलिंग

आज के समय में हर इंसान चाहता है कि वह स्वस्थ रहे और स्वस्थ वातावरण में निवास करें। एक समय था जब लोग हर तरह का सफर पैदल या फिर साइकिल पर सवार होकर तय किया करते थे, जिससे वातावरण स्वच्छ रहता था और इंसान स्वस्थ रहता था। लोगों को स्वास्थ्य संबंधी जानकारी देने के लिए और साइकिल की अहमियत समझाने के लिए विश्व बाइसाइकिल दिवस हर साल 3 जून को मनाया जाता है।

विश्व बाइसाइकिल दिवस का इतिहास (History Of World Bicycle Day)

साइकिल वह साधन है जिसे हर इंसान गिरते-पड़ते चलाना सीख ही जाता है। एक समय था जब साइकिल का ही दौर था, लेकिन यह दौर 1960 से 1990 तक ही कायम रहा। यह वो समय था जब साइकिल परिवार का मुख्य साधन होती थी। समय के बदलते दौर के साथ साइकिल की जगह मोटरसाइकिल और कार ने ले ली है। जब से इंसान साइकिल से दूर हुआ, तभी से उसे स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ा। इसलिए लोगों को साइकिल की महत्वता बताने के लिए और इससे होने वाले स्वास्थ्य संबंधी फायदे बताने के लिए हर साल बाइसाइकिल दिवस मनाया जाने लगा।

आईए जानते हैं विश्व बाइसिकल दिवस मनाने का महत्व, यह कब मनाया जाता है और इससे होने वाले स्वास्थ्य संबंधी फायदे।

World Bicycle Day कब और क्यों मनाया जाता है

पूरे विश्व स्तर पर विश्व बाइसिकल दिवस हर साल 3 जून को मनाया जाता है। यह दिन बाइसाइकिल के महत्व को जागरूक करने, पर्यावरण संरक्षण को प्रोत्साहित करने और स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए समर्पित है। बाइसाइकिल का उपयोग फिजिकल एक्टिविटी के रूप में, पर्यावरण के लिए साथी के रूप में और यात्रा के लिए किया जाता है। इस दिन कई देशों में बाइसिकल यात्राओं, जागरूकता कार्यक्रमों और बाइसिकल से होने वाले फायदों से संबंधित आयोजनों का आयोजन होता है। इस दिन को मनाने का उद्देश्य लोगों को बाइसाइकिल से होने वाले स्वास्थ्य संबंधी फायदे के महत्व को समझाना और बाइसाइकिल के उपयोग को बढ़ाना है।

विश्व बाइसाइकिल दिवस की शुरुआत कब और क्यों हुई

जब लगा की स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं बढ़ती जा रही हैं, तब लोगों में बाइसाइकिल से होने वाले फायदे बताने के उद्देश्य से विश्व बाइसाइकिल दिवस मनाया जाने लगा। इस दिन को मनाने की शुरुआत सन् 2018 में हुई। संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा अप्रैल 2018 में विश्व बाइसिकल दिवस मनाने का फैसला लिया गया। तब से हर साल 3 जून को विश्व स्तर पर विश्व बाइसाइकिल दिवस (World Bicycle Day) मनाया जाता है।

ऐसे मनाया जाएगा वर्ल्ड साइकिल डे (World Bicycle Day Celebration)

देश, धर्म व लिंग के भेदभाव से कोसों दूर पूरी दुनिया में विश्व साइकिल दिवस मनाया जाता है और इस दिन लोग साइकिल चलाने का मजा लेते हैं। आज के समय में साइकिल केवल यातायात का साधन नहीं रह गया है, बल्कि यह मानव जीवन में एक जरूरी एक्सरसाइज इक्विपमेंट का प्रतीक बन चुका है। इस दिन दुनिया भर में कई प्रकार की गतिविधियों का आयोजन किया जाता है। इसमें साइकिल ट्रिप्स का आयोजन करना प्रमुख माना जाता है।

साइकिल चलाने के फायदे (Benefits Of Cycling)

साइकिल चलाने से हमारे वातावरण व इंसान दोनों को ही फायदा होता है। एक तरफ जहां साइकिल चलाने से प्रदूषण में कमी आती है, वहीं दूसरी तरफ इंसान की फिजिकल और मेंटल हेल्थ (Physical and Mental Health) भी बेहतर होती है। रोज़ाना आधा घंटा साइकिल चलाने से बॉडी की फिटनेस बढ़ती है और एक्स्ट्रा फैट से छुटकारा मिल जाता है। साइकिल सबसे सस्ता और पुरातन यात्रा का वह साधन है जिसके हमें बहुत से फायदे हैं।

  • बाइसाइकिल से पेट्रोल की बचत होती है, जो पर्यावरण संरक्षण में बहुत लाभकारी है।
  • साइकिल चलाने से पाचन संबंधी समस्याओं से निजात मिलती है। इंसान का पाचन तंत्र सही रहता है।
  • इसके अलावा साइकिल चलाने से घुटनों के दर्द आदि जैसी समस्याओं का इंसान को सामना नहीं करना पड़ता।
  • साइकिल एक ऐसा साधन है जिससे इंसान के पूरे शरीर की एक्सरसाइज हो जाती है।

Conclusion

आज की व्यस्त भरी जीवन शैली में बाइसाइकिल से नाता जोड़ कर रखें। जब भी आपको समय मिले, आप एक्सरसाइज के रूप में बाइसाइकिल जरूर इस्तेमाल करें ताकि आपको भी स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना ना करना पड़े।

Author

Write A Comment